डिजिटल मार्केटिंग सीखने के लिए क्या-क्या जानना जरूरी है?

एक बहुत ही अच्छा महत्वपूर्ण सवाल है। जैसा की हमने पहले भी बताया है कि डिजिटल मार्केटिंग एक विशाल विषय है। इस विषय में काफी सारे अन्य पहलू और अन्य विषय आते हैं।

तो अगर आप अभी डिजिटल मार्केटिंग सीखना शुरु कर रहे हैं तो जरूरी है कि आप यह जान ले के डिजिटल मार्केटिंग में क्या क्या आता है।

हमने नीचे आपको एक आसान तरीके से डिजिटल मार्केटिंग में जितने भी विषय आते हैं उनकी जानकारी एक लिस्ट में दी है।

  1. सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन
  2. सर्च इंजन मार्केटिंग
  3. सोशल मीडिया मार्केटिंग
  4. ऑनलाइन रिजर्वेशन मैनेजमेंट
  5. एफिलिएट मार्केटिंग
  6. कॉन्टेंट मार्केटिंग
  7. इन्फ्लुएंस मार्केटिंग
  8. ईमेल मार्केटिंग
  9. SMS मार्केटिंग
  10. डाटा एनालिटिक्स
  11. मोबाइल ऐप मार्केटिंग

यह यह 11 विषय डिजिटल मार्केटिंग के हर पहलू के बारे में आपको बताएगा। अगर आप डिजिटल मार्केटिंग से वाकिफ नहीं है तो इन्हीं पढ़कर घबराइए मत। इस वेबसाइट पर हम हर पहलू के बारे में आपको विस्तार से और आसान तरीके से जानकारी देंगे।

सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन आपको यह सिखाता है कि आप अपनी वेबसाइट गूगल और अन्य सर्च इंजिंस के लिए कैसे बना सकते हैं। अगर आप चाहते हैं कि आपकी वेबसाइट पर लोग गूगल सर्च करके आए तो इसके लिए यह जरूरी होता है कि आपकी वेबसाइट Google के दिए गए नियम और सर्च इंजन की बेस्ट प्रैक्टिसेज सर्वोत्तम प्रथाओं का पालन करें।

सर्च इंजन सर्च इंजन मार्केटिंग को पेपर प्लेट एडवरटाइजिंग भी माना गया है। अगर आप Google पर गए होंगे तो आपने यह देखा होगा कि जब आप कुछ भी सर्च करते हैं तो आपको काफी कंपनियों के ऐड देखते हैं। यह एंड सर्च इंजन के माध्यम उसे और उनके ऐड के प्लेटफार्म से पैसे देकर लाए जाते हैं। सर्च इंजन मार्केटिंग में हमने आपको बताएंगे कि यह आप एक आसान तरीके से कैसे चला सकते हैं। इसमें यह जानना भी जरूरी है कि यह ऐड ना सिर्फ कैसे चलाया जाए पर इनका सदुपयोग कैसे किया जाए जिससे कि कम से कम खर्चे में आप ज्यादा से ज्यादा धंधा अपनी कंपनी के लिए ला पाएं।

सोशल मीडिया मार्केटिंग में आपको यह जानना जरूरी है कि सोशल मीडिया वेबसाइट जैसे फेसबुक ट्विटर इंस्टाग्राम का प्रयोग ज्यादा से ज्यादा लोगों तक कब से कम खर्चे में पहुंचने के लिए कैसे इस्तेमाल करी जा सकती हैं।

एफिलिएट मार्केटिंग मार्केटिंग का एक तरीका है जिसमें आप इंटरनेट पर दूसरों के प्रोडक्ट के सर्विस भेजकर एक कमीशन के थ्रू पैसा बनाते हैं। Amazon देसी बड़ी बड़ी कंपनियां एफिलिएट मार्केटिंग का इस्तेमाल करती हैं ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचने के लिए।

ऑनलाइन प्रिपरेशन मैनेजमेंट सोशल मीडिया मार्केटिंग का ही एक हिस्सा है। ऑनलाइन रेपुटेशन मैनेजमेंट के अंदर आपको यह जानना जरूरी है कि आप अपने फ्रेंड या संस्था की रेपुटेशन सोशल मीडिया और इंटरनेट पर कैसे बनाए रखें। अपने ब्रांड संस्था की प्रतिष्ठा बनाए रखने के लिए यह जरूरी हो गया है आजकल कि आप अपने ब्रांड के बारे में जो भी कहा जा रहा है सोशल मीडिया और अन्य वेबसाइट पर उसको सोने और जहां जरूरी हो उस पर काम करें या फिर उसका सही जवाब दें।

ईमेल और SMS मार्केटिंग में यह सीखना जरूरी है कि आप ईमेल और SMS का प्रयोग कैसे कर सकते हैं अपने प्रोडक्ट सर्वेश या अपने फ्रेंड के बारे में लोगों को सूची देने के लिए। ईमेल और SMS का प्रयोग और भी काफी तरीके से होता है जिसमें कि आप कस्टमर से बात कर पाते हैं और कस्टमर को उसके मुताबिक सूचित कर पाते हैं।

कंटेंट कंटेंट मार्केटिंग में आप कंटेंट जैसे कि आर्टिकल वीडियो या फोटो का प्रयोग करके अपने प्रोडक्ट और सर्विसेज के बारे में लोगों को जानकारी देते हैं। यह एडवरटाइजिंग से थोड़ा हटकर है क्योंकि इसमें आप अपने प्रोडक्ट के सर्विस के बारे में डायरेक्ट अपने कस्टमर को नहीं बताते या उसका प्रचार करते। सीधे तरीके से अपने प्रोडक्ट को ना बेच कर आप अपने कस्टमर को वह कंटेंट देते हैं जो वह पढ़ना चाहता है जिसकी उसको जरूरत है। इसका महत्व इसलिए बढ़ गया है क्योंकि इंटरनेट पर बहुत सारी कंपनियां अपने प्रोडक्ट को संदेश भेज रही है और इस वजह से काफी कस्टमर्स एड्स को नहीं देखते या उनको हटा देते हैं।

इन्फ्लुएंस मार्केटिंग में यही प्रमोशन ऑनलाइल इंफ्लुएंर्स अर्ज जैसे कि ब्लॉगर या फिर सोशल मीडिया पर बड़ी हस्तियों के माध्यम से आप अपनी सीमाओं का प्रचार करते हैं। क्योंकि इन हस्तियों को दुनिया फॉलो करती है इसलिए काफी ब्रांड और संस्थाएं इन प्रभावशाली व्यक्तियों के माध्यम से अपनी बात लोगों को पहुंचाते हैं।

मोबाइल फोंस का इस्तेमाल बढ़ गया है। आपको अब हर इंसान के हाथ में एक स्मार्टफोन मिलेगा जिसमें तरह तरह के मोबाइल ऐप का इस्तेमाल हो रहा होगा। इन एप्स की मार्केटिंग करने के लिए अब एक नया विषय बन गया है जिसको मोबाइल ऑफ मार्केटिंग कहते हैं। मोबाइल ऑफ मार्केटिंग डिजिटल मार्केटिंग में एक नया विषय है जो डिजिटल मार्केटिंग के ही तरीकों का इस्तेमाल करता है। इसका फर्क यह है कि यह मोबाइल ऐप का माध्यम इस्तेमाल करता है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *